संपर्क सूत्र - (0731) 2361056    ईमेल - contact@redcrossindore.org, redcrossindore@mp.gov.in
||

रक्तदान महादान

रक्त का शरीर से निकाल कर जरूरतमंद व्यक्ति को देना रक्तदान कहलाता है | एक सामान्य मनुष्य में 5 से 6 लीटर रक्त होता है |
रक्तदान के दौरान मात्र 300 मिलीलीटर रक्त लिया जाता है। शरीर इस रक्त की आपूर्ति मात्र 24 से 48 घंटे में कर लेता है |
मनुष्य के शरीर में वजन का 7 प्रतिशत रक्त होता है । एक यूनिट रक्त के माध्यम से तीन लोगों की जान बचाई जा सकती है ।

रक्तदान क्यों है जरूरी ?

- रक्तदान कर एक शख्स दूसरे शख्स की जान बचा सकता है ।
- रक्त का किसी भी प्रकार से उत्पादन नहीं किया जा सकता और न ही इसका कोई विकल्प है ।
- देश में हर साल लगभग 250 सीसी की 4 करोड़ यूनिट रक्त की जरूरत पड़ती है । सिर्फ 5,00,000 यूनिट रक्त ही मुहैया हो पाता है ।
- हमारे शरीर में कुल वजन का 7% हिस्सा खून होता है ।
- आंकड़ों के मुताबिक 25 प्रतिशत से अधिक लोगों को अपने जीवन में खून की जरूरत पड़ती है ।

रक्तदान के फायदे

- रक्तदान करने से हार्ट अटैक की आशंका कम हो जाती है।
- डॉक्टर्स का मानना है कि डोनेशन से खून पतला होता है, जो कि हृदय के लिए अच्छा होता है ।
- एक नई रिसर्च के मुताबिक नियमित रक्तदान करने से कैंसर व दूसरी बीमारियों के होने का खतरा भी कम हो जाता है, क्योंकि यह शरीर में मौजूद विषैले पदार्थों को बाहर निकालता है ।
- रक्तदान करने के बाद बोनमैरो नए रेड सेल्स बनाता है। इससे शरीर को नए ब्लड सेल्स मिलने के अलावा तंदुरुस्ती भी मिलती है ।
- रक्तदान करना एक सुरक्षित व स्वस्थ परंपरा है। इसमें जितना खून लिया जाता है, वह 21 दिन में शरीर फिर से बना लेता है। ब्लड का वॉल्यूम तो शरीर 24 से 72 घंटे में ही पूरा बन जाता है ।

रक्तदान करने से पहले महत्वपूर्ण बातें

रक्त देने से पहले मिनी ब्लड टेस्ट होता है, जिसमें हीमोग्लोबिन टेस्ट, ब्लड प्रेशर व वजन लिया जाता है । रक्तदान करने के बाद इसमें हेपेटाइटिस बी व सी, एचआईवी, सिफलिस व मलेरिया आदि की जांच की जाती है । इन बीमारियों के लक्षण पाए जाने पर रक्तदान करने वाले व्यक्ति का रक्त न लेकर उसे तुरंत सूचित किया जाता है | रक्त की कमी का एकमात्र कारण जागरूकता का अभाव है ।
- 18 साल से अधिक उम्र के स्त्री-पुरुष, जिनका वजन 50 किलोग्राम या अधिक हो, वर्ष में तीन-चार बार रक्तदान कर सकते हैं ।
- रक्तदान करने योग्य लोगों में से अगर मात्र 3 प्रतिशत भी खून दें तो देश में ब्लड की कमी दूर हो सकती है और असमय होने वाली मौतों को रोका जा सकता है ।
- रक्तदान करने से पहले व कुछ घंटे बाद तक धूम्रपान से परहेज करना चाहिए ।
- रक्तदान करने वाले शख्स को रक्तदान के 24 से 48 घंटे पहले ड्रिंक नहीं करनी चाहिए ।
- रक्तदान करने से पहले पूछे जाने वाले सभी प्रश्नों के सही व स्पष्ट जवाब देना चाहिए ।
नोट: ब्लड डोनेट करने के बाद आप पहले की तरह ही कामकाज कर सकते हैं। इससे शरीर में किसी भी तरह की कमी नहीं होती ।

यहां से रक्तदान / रक्त प्राप्त किया जा सकता है

सोसाइटी द्वारा रक्त उपलब्ध कराने हेतु दामोदर युवा संगठन को अधिकृत किया गया है जो जरुरत पड़ने पर तुरंत रक्त की व्यवस्था कराता है | इसके अतिरिक्त एमवाय हॉस्पिटल का ब्लड बैंक भी आकस्मिक स्थिति में रक्त उपलब्ध कराता है |
आकस्मिक स्थिति में दामोदर युवा संगठन में श्री अशोक नायक से फ़ोन नंबर 9200250000
एम वाय हॉस्पिटल के ब्लड बैंक में फ़ोन नंबर (0731) 2527301 पर संपर्क किया जा सकता है |